PATIVEDAN
प्रतिवेदन

हिंदी का प्रतिवेदन यहां संवाद लेखन अंग्रेजी रिपोर्टिंग शब्द का पर्याय हैं आज के गण तांत्रिक युग में गणतंत्र के कई आधार स्तंभ माने गए हैं जो गणतंत्र या प्रजातांत्रिक व्यवस्था को नियंत्रित करते हैं उसमें समाचार पत्रों की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होती है समाचार पत्र प्रजातंत्र या व्यवस्था में अपनी बात जो राष्ट्र हित की विरोधी ना हो को जनता के समक्ष रखने को पूर्ण स्वतंत्र होता है समाचार पत्र अपने लेखों प्रतिवेदन ओं द्वारा लोगों को दिन प्रतिदिन होने वाली घटनाओं से परिचित कराते हैं तथा उनमें जागृति लाने का काम करते हैं अखबारों में छपने वाले इन सूचनाओं को प्रतिवेदन कहते हैं प्रतिवेदन लेखक को संवाददाता रिपोर्टर या पत्रकार जर्नलिस्ट कहते हैं

संवाददाता का संवाद संग्रह का मार्ग सत्य का पथ है-

किसी पत्रिका संवाददाता किसी भी घटनास्थल पर जाने के लिए स्वतंत्र होता है जहां पर सरकार द्वारा जाने की मनाही होती है उसे छोड़कर सर्वप्रथम संवाददाता घटनास्थल का निरीक्षण करता है एवं अपनी बुद्धि तथा अपने स्रोतों से घटना की वास्तविकता का पता लगाने का प्रयास करता है उसके बाद घटनास्थल के पास उपस्थित लोगों से घटना की सत्यता की जानकारी प्राप्त करता है प्राप्त जानकारी को व संक्षेप में रफ कॉपी में लिख लेता है इसके बाद वह घटनास्थल या क्षेत्र के प्रमुख प्रतिष्ठित व्यक्तियों प्रशासनिक अधिकारियों से घटना का विवरण लेता है इसके बाद वह स्थाई पुलिस अधिकारियों से घटना का विवरण प्राप्त करता है इसके बाद संवाददाता स्वयं घटना की सत्यता एवं तथ्यों पर विचार करता है संवाददाता का यह कार्य सबसे महत्वपूर्ण कार्य संवाददाता यदि अपने मन से कुछ भी जोड़ता है या घटाता है बढ़ाता है तो वह अपने दायित्व का निर्वाह ठीक से नहीं करता संवादाता का मार्ग सत्य पथ पर चलना होता है उसे चाहिए कि जितना भी संभव हो सत्यता का पता लगाकर उसके बाद अपने प्रतिवेदन छपने के लिए अखबार में भेजें उसे प्रतिदिन प्रतिवेदन लिखते समय निष्पक्ष होना चाहिए

 प्रतिवेदन लेखकों कैसा होना चाहिए ?

आज की भ्रष्ट राजनीति में किसी घटना दुर्घटना या तथ्य को सही सही सूचना देना बड़ा कठिन काम है किसी भी घटना से राजनीति प्रभावित हो सकती है अतः प्रत्येक राजनीतिक दल पुलिस थाना या संबंधित विभाग या चाहता है कि प्रतिवेदन उसके प्रतिकूल ना लिखा जाए अतः आज के संवादाता को निरपेक्ष और निर्भीक होना पड़ेगा राजनीतिक दल तथा संबंधित विभाग पत्रकार को अपने अनुरूप प्रतिवेदन लिखने के लिए आर्थिक लोग दिया करते हैं या दे देते हैं यदि इतने पर भी पत्रकार उनके अनुरूप काम नहीं करता है तो उसे भय भी दिखाया जाता है इसके फलस्वरूप पत्रकार को साहसी और इमानदार बना रहना अनिवार्य होता है उसे या निश्चित करना होता है कि वह मात्र एक वेतन भोगी कर्मचारी नहीं है अपितु व जनसेवक है और समाज को सही सूचना जिम्मेदारी के साथ देना उसका परम दायित्व है

प्रतिवेदन किसे कहते हैं ?

घटना के तत्वों को एक रुप देना प्रतिवेदन कहलाता है किसी घटना का लिखित या कथित विवरण प्रतिवेदन है जब कोई संवाददाता किसी घटना का पूर्ण विवरण देता है तब वह एक प्रतिवेदन कहलाता है किसी दायित्व शील व्यक्ति के काम के संबंध में यदि कोई विवरण देता है तो वह भी प्रतिवेदन होता है कुछ विचारशील व्यक्तियों को लेकर किसी विषय में रिपोर्ट देने के लिए तदर्थ समिति का गठन किया जाता है उस व्यक्ति द्वारा तथ्यों के संबंध में जो विवरण दिया जाता है उसे भी प्रतिवेदन कहा जाता है

YOU CAN LIKE THESE POSTS :-

  1. नवरात्रि क्यों मनाया जाता है ? https://skstudypointsiliguri.com/navratri/
  1. छठ पूजा क्या है ?  https://skstudypointsiliguri.com/chhath-puja/

प्रतिवेदन में किन गुणों का होना आवश्यक होता है ?

i) प्रतिवेदन रचना एक महत्वपूर्ण कार्य है इसकी सबसे पहली आवश्यकता है- घटना का सत्य उद्घाटन।

ii) प्रतिवेदन के संबंध में दूसरी महत्वपूर्ण बात यह है कि संवाददाता या तदर्थ समिति के सदस्य को चाहिए कि विषय वस्तु या घटना को ठीक उसी प्रकार संक्षेप में प्रस्तुत करें जिस रूप में उसे तथ्य प्राप्त हुए हैं उन्हें अपनी तरफ से कोई तथ्य जोड़ना नहीं चाहिए किसी महत्वपूर्ण तथ्य को छोड़ना भी संवाददाता की भूल होगी

iii) प्रतिवेदन के संबंध में तीसरी महत्वपूर्ण बात यह है कि प्रतिवेदन संक्षिप्त और पोस्ट होना चाहिए अतः प्रतिवेदन लिखने के बाद उसे पुनः पढ़ कर भूल को सुधार लेना चाहिए प्रतिवेदन में उपर्युक्त गुणों के बाद तीन बातों का होना आवश्यक है।

iv) प्रतिवेदन के सुंदर आकर्षक और संक्षिप्त शीर्ष वाक्य हेड लाइन होना आवश्यक है इस वाक्य इस प्रकार विचार पूर्ण लिखा जाना चाहिए कि उसे पढ़ते ही संपूर्ण विषय के संबंध में स्पष्ट रूपरेखा मन में आ जाए

v) जिस स्थान पर घटना हुई हो उस स्थान का नाम देना आवश्यक है घटनास्थल यदि ऐसा हो जिसे लोग जानते ना हो तो उसके स्थान पर अन्य महत्वपूर्ण स्थान का नाम दे देना चाहिए

vi) घटनास्थल के बाद कोमा(,) देकर तारीख लिखना आवश्यक है तारीख के बाद डांस(-) देकर प्रतिवेदन लेखन आरंभ होता है

Here the following POSTS you are going to read our all Study Materials on different topics based Madhyamik Pariksha 2021:-

  1. Hindi Madhyamik 2021
  2. Madhyamik Theorems 2021
  3. Chemical Bonding |Physical Science| WBBSE CLASS 10
  4. Current Elrctricity |PHYSICAL SCIENCE WBBSE CLASS 10

 उदाहरण के लिए आप नीचे दिए गए प्रतिवेदन के प्रश्नों को देखिए जो बारंबार माध्यमिक परीक्षा में पूछे जाते हैं या पश्चिम बंगाल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन के द्वारा परीक्षा में पूछे जाते हैं। उसके कुछ उदाहरण दिए गए हैं। इन प्रतिवेदनों को देखकर आपको समझ में आ जाएगा कि प्रतिवेदन किस प्रकार लिखा जाता है तो चलिए देखते हैं।

1) कोलकाता पुस्तक मेला के विषय में प्रतिवेदन लिखिए।

कोलकाता पुस्तक मेला

कोलकाता, 28 फरवरी 2020-  गत दिन कोलकाता में पुस्तक मेले का आयोजन किया गया। प्रतिवर्ष फरवरी के महीने में इसका आयोजन किया जाता है। पूरे वर्ष कोलकाता के पुस्तक प्रेमी इस मेले की प्रतीक्षा करते हैं। इस बार इस पुस्तक मेले में कुल 500 प्रकाशन संस्थाओं ने भाग लिया। इस पुस्तक मेले में विभिन्न विषयों की पुस्तकें एक साथ ही पाठकों को प्राप्त हो जाती हैं । अतः वह दुकानों का चक्कर काटने से बजाते हैं। पुस्तक मेले में कोलकाता की कई साहित्यिक सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा काव्य पाठ भी आयोजित किया जाता है। कोलकाता महानगर के वरिष्ठ साहित्यकारों ने भी इस पुस्तक मेले में भाग लिया। अपनी नयी प्रकाशित पुस्तकों के विक्रय को बढ़ाने के लिए वे उन्हें खरीदने वाले पाठकों का अपना हस्ताक्षर करके दे रहे थे। यह पुस्तक मेला 10 दिनों तक चला।

2) विद्यालय पत्रिका के प्रकाशन के लिए अपने विद्यालय द्वारा आयोजित वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता पर एक प्रतिवेदन लिखिए।

विद्यालय की वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता

सिलीगुड़ी, 11 जनवरी 2020- विद्यालय की वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता किला के मैदान में 10 जनवरी 2020 को आयोजित हुई। इस प्रतियोगिता में विद्यालय के छात्रों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। हमारे विद्यालय के क्रीड़ा शिक्षक ने 10:00 हरी झंडी दिखाकर प्रतियोगिता का आरंभ किया। प्रधानाध्यापक ने आमंत्रित लोगों और अभिभावकों को उचित स्थान प्रदान किया। पहले 100 मीटर और 200 मीटर की दौड़ प्रतियोगिता हुई। इन दोनों दलों में कक्षा 8 का छात्र प्रथम स्थान प्राप्त किया इसके बाद फ्राग रेस, ऊंची कूद, लंबी कूद, आदि प्रतियोगिताएं हुई क्रीड़ा प्रतियोगिता 3:00 बजे समाप्त हुई ।

क्रीड़ा प्रतियोगिता के समाप्त होने पर पुरस्कार वितरण आरंभ हुआ। प्रधानाध्यापक के आग्रह पर डी.आई. ऑफ स्कूल(एस.इ.) ने पारितोषिक वितरण का कार्य संभाला। विजेता छात्रों को पुरस्कार दिया गया उन्हें मानपत्र और मिठाई भी दी गई। एक दिन की छुट्टी के साथ विद्यार्थियों को छोड़ा गया। समारोह के समापन के बाद अतिथियों को जलपान कराया गया। धन्यवाद ज्ञापन के साथ प्रधानाध्यापक ने क्रीड़ा प्रतियोगिता का समापन किया।

3) विद्यालय पत्रिका में प्रकाशन के लिए अपने विद्यालय में आयोजित वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह पर एक प्रतिवेदन प्रस्तुत कीजिए।

वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह

कोलकाता, 21 नवम्बर 2019- इस वर्ष 20 नवंबर 2019 को हमारे विद्यालय के वार्षिक उत्सव और पुरस्कार वितरण समारोह महाजाति सदन कोलकाता में संपन्न हुआ। समारोह की तैयारी महीनों पहले से प्रारंभ की गई थी। राज्य के शिक्षा मंत्री ने प्रधान आदि अतिथि और नगर निगम के मेयर ने विशिष्ट अतिथि का आसन सुशोभित किया। सन्मार्ग के संपादक ने समारोह के अध्यक्ष पद को स्वीकार किया। विद्यालय के अभिभावक, शिक्षक, छात्र सभी कार्यक्रम को सफल बनाने में जुटे थे। शिक्षा मंत्री ने सफल विद्यार्थियों को पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्रदान किया और सफल छात्रों को निराश न होने की प्रेरणा दी और अगले वर्ष कठोर परिश्रम कर सफलता प्राप्त करने की कामना प्रकट की। सांस्कृतिक कार्यक्रम, नाटक, प्रहसन, नृत्य, गान का कार्यक्रम चला। दर्शकों ने तालियों की गड़गड़ाहट द्वारा छात्रों का उत्साहवर्धन किया। अंत में अध्यक्षीय भाषण के बाद प्रधानाचार्य ने अतिथियों के प्रति आभार प्रकट करते हुए सभा की कार्यवाही समाप्त की।

 प्रश्न:-

1. अपने इलाके में आयोजित बाल श्रम विरोधी अभियान विषय पर समाचार पत्र में छपने के लिए एक प्रतिवेदन लिखिए।

2. अपने इलाके में आयोजित रक्तदान शिविर पर समाचार पत्र में छपने के लिए एक प्रतिवेदन लिखिए।

3. अपने विद्यालय में मनाए गए वार्षिकोत्सव पर समाचार पत्र के लिए प्रतिवेदन लिखिए।

4. विद्यालय पत्रिका में प्रकाशन के लिए अपने विद्यालय द्वारा आयोजित वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता पर एक प्रतिवेदन लिखिए।

5. विद्यालय पत्रिका में प्रकाशन के लिए अपने विद्यालय में आयोजित कविता पाठ प्रतियोगिता पर एक प्रतिवेदन लिखिए।

6. विद्यालय पत्रिका में प्रकाशन के लिए अपने विद्यालय द्वारा आयोजित प्रेमचंद जयंती पर एक प्रतिवेदन प्रस्तुत कीजिए।

5/5
error: Content is protected !!